कोहरे की चादर में लिपटा रहा नये साल का पहला दिन, आगामी दो से तीन दिनों में हल्की बारिश की संभावना

2021 का पहला दिन कई राज्यों में कोहरा की घनी चादर में लिपटा आया। देश का राजधानी दिल्ली समेत कई शहरों में बर्फीली हवाओं के साथ घना कुहरा ने नए साल की सुबह को फिकी कर दी। वहीं उत्तर प्रदेश में भी बर्फीली हवाओं की रफ्तार तेज हो गयी। इन हवाओं की तेजी से प्रदेश के अधिकांश जनपदों में कोल्ड डे की स्थिति बन गयी और सुबह जब लोग जगे तो उनके हाथों पर पानी बर्फ के समान रहा। मौसम विभाग का कहना है कि आगामी दिनों में स्थानीय स्तर पर हल्की बारिश की संभावना है, जिससे शीतलहर से फिलहाल लोगों को निजात नहीं मिल सकेगी।

पहाड़ों में हिमपात, मैदानी इलाकों में बढ़ी गलन

उधर जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में इन दिनों जगह-जगह भारी हिमपात हो रहा है। इसका असर मैदानी क्षेत्रों में भी पड़ रहा है और नये साल के आगाज पर देर रात उत्तर पश्चिम दिशा से चलने वाली बर्फीली हवाओं की रफ्तार तेज हो गयी। यह हवाएं उत्तर प्रदेश सहित बिहार की राजधानी पटना तक अपना कहर बरपायीं। इससे रात में नये साल का जश्न मना रहे लोगों के हाड़ कांप गये। कड़ाके की सर्द हवा के बीच बच्चे व बुजुर्ग रजाई में ही दुबके रहे और सुबह पानी इतना ठंडा रहा कि उसे छूने पर ऐसा लग रहा था जैसे बर्फ का टुकड़ा हाथ में ले लिया हो। इसके साथ ही शुक्रवार का दिन कोहरे के धुंध के साथ निकला और सड़कों पर वाहन रेंगते दिखे।

लखनऊ में सबसे अधिक गलन

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर के मौसम वैज्ञानिक डाॅ. एसएन पांडेय ने शुक्रवार को बताया कि तापमान गिरने का एक कारण हवा का बदलाव भी है। हवाओं की दिशाएं दो दिन से उत्तरी पश्चिमी चल रही हैं और नये साल के आगाज पर देर रात से इनकी रफ्तार तेज हो गयी। इन बर्फीली हवाओं के चलने से उत्तर प्रदेश के ज्यादातर जनपदों में न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे चला गया, जिससे लोग गलन भरी ठंड से सिहर उठे।उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सबसे अधिक गलन रही। यहां का न्यूनतम तापमान 0.05 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा। बताया कि उत्तर प्रदेश में मौसम आगामी दो से तीन दिनों तक मुख्यतः शुष्क रहेगा। उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर घना या अत्यधिक घना कोहरा पड़ने की संभावना है।

शीत लहर बने रहने की संभावना

बताया कि पश्चिमी प्रदेश में एक या दो स्थानों पर शीत लहर से तीव्र शीत लहर बने रहने की संभावना है। इसी तहर पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर शीत लहर बने रहने की संभावना है। उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर शीत दिवस से तीव्र शीत दिवस बने रहने की संभावना है। इसके साथ ही तीन जनवरी को उत्तर प्रदेश में स्थानीय स्तर पर हल्की बारिश की भी संभावना है।

प्रमख शहरों का इस तरह रहेगा अधिकतम व न्यूनतम तापमान

आगरा 17-2 अलीगढ़, 15-8 बहराइच, 21-7, बांदा 24-5, बरेली 20-6, फैजाबाद 22-5, नोएडा 17-5, गाजियाबाद 18-5, गोरखपुर 21-6, झांसी 18-6, लखनऊ 18-0.5, प्रयागराज 21-7, वाराणसी 21-7, कानपुर 20-2.8 डिग्री सेल्सियस तापमान रहने की संभावना है।

(एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *