Budget 2021 -पीएम मोदी ने दी बधाई, कहा- बजट में यथार्थ का एहसास भी और विकास का विश्वास भी…

Budget 2021 – देश का आम बजट सोमवार को संसद पटल पर पेश किया गया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और उनकी टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा है कि “ऐसे बजट बहुत कम बन पाते हैं। वर्ष 2021 का बजट साधारण परिस्थितियों के बीच पेश किया गया है। इसमें यथार्थ का एहसास भी और विकास का विश्वास भी है।”

इस बार का बजट भारत के आत्मविश्वास को उजागर करने वाला-

प्रधानमंत्री ने कहा, “कोरोना ने दुनिया में जो प्रभाव पैदा किया उसने पूरी मानव जाति को हिलाकर रख दिया। इन परिस्थितियों के बीच आज का बजट भारत के आत्मविश्वास को उजागर करने वाला है और साथ ही दुनिया में एक नया आत्मविश्वास भी भरने वाला है। आज के बजट में आत्मनिर्भरता का वीजन भी है और हर नागरिक हर वर्ग का समावेश भी है। हम इस बजट में जिन सिद्धांतों को लेकर चले हैं वो हैं ग्रोथ के लिए नए अवसरों, नई संभावनाओं का विस्तार करना, युवाओं के लिए नए अवसरों का निर्माण करना, मानव संसाधन को एक नया आयाम देना, इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण के लिए नए-नए क्षेत्रों को विकसित करना, आधुनिकता की तरफ आगे बढ़ना, नए सुधार लाना।”

ईज ऑफ लीविंग को बढ़ाने पर इस बजट में जोर

पीएम मोदी ने बजट की तारीफ करते हुए कहा “नियमों और प्रक्रियाओं को सरल बनाकर आम लोगों के जीवन में ईज ऑफ लीविंग को बढ़ाने पर इस बजट में जोर दिया गया है। यह बजट इंडिविजुअल्स, इंवेस्टर्स, इंडस्ट्री और साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में बहुत सकारात्मक बदलाव लाएगा। मैं इसके लिए देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और उनके साथी मंत्री अनुराग ठाकुर व उनकी टीम को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।”

पीएम ने कहा ऐसे बजट कम ही देखने को मिलते हैं

उन्होंने कहा, “ऐसे बजट देखने को कम ही मिलते हैं जिसमें शुरू के एक दो घंटों में ही इतने सकारात्मक रिस्पॉन्स आए हैं। कोरोना के चलते कई एक्सपर्ट ये मानकर चल रहे थे सरकार आम नागरिकों पर बोझ बढ़ाएगी लेकिन फिसकल सस्टेनेब्लिटी के प्रति अपने दायित्वों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने बजट साइज बढ़ाने पर जोर दिया। हमारी सरकार ने निरंतर प्रयास किया है कि बजट ट्रांसपेरेंट होना चाहिए। मुझे खुशी है कि आज अनेक विद्वानों ने इस बजट की ट्रांसपेरेंसी की सराहना की है।”

प्रो-एक्टिव बजट देकर देश के सामने प्रो एक्टिव होने का दिया संदेश

पीएम मोदी ने कहा, “भारत कोरोना की लड़ाई में रिएक्टिव होने के स्थान पर हमेशा ही प्रो-एक्टिव रहा है। चाहे वह कोरोना के काल में किए गए रिफ़ॉर्म हो या फिर आत्मनिर्भर भारत का संकल्प। इसी प्रोएक्टिवनेस को बढ़ाते हुए आज के बजट में भी रिएक्टिव का नाम-ओ-निशान नहीं है। साथ ही हम एक्टिव प्रो स्टेटेट्स के ऊपर भी अटके नहीं हैं। हमने इस बजट में भी प्रो-एक्टिव बजट देकर देश के सामने प्रो एक्टिव होने का संदेश दिया है। यह बजट उन सेक्टर पर विशेष रूप से केंद्रित है जिनसे वेल्थ और वेलनेस दोनों ही तेज गति से बढ़ेंगे। जान भी जहान भी… ”

बजट में MSMEs और इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष रूप से जोर

पीएम मोदी ने कहा, “इस बजट में MSMEs और इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष रूप से जोर दिया गया है। यह बजट जिस तरह से हेल्थ केयर पर केंद्रित है वो भी अभूतपूर्व है। यह बजट देश के हर एक क्षेत्र में विकास यानी ऑल अराउंड डवलपमेंट की बात करता नजर आता है। खासतौर पर मुझे खुशी है कि इस बजट में दक्षिण के हमारे राज्य, पूर्वोत्तर के हमारे राज्य और उत्तर में लेह-लद्दाख जैसे राज्यों में विकास पर विशेष ध्यान दिया है। यह बजट भारत के कोस्टल स्टेट्स जैसे तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल को एक बिज़नेस पावर हाउस बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम उठाया है। नॉर्थ ईस्ट के राज्य जैसे असम के Un Explored Potential को टैप करने में यह बजट बहुत बड़ी मदद करेगा। इस बजट में जिस तरह से रिसर्च एंड इनोवेशन इको सिस्टम पर बल दिया गया है जो प्रावधान किए गए हैं उनसे हमारे युवाओं को ताकत मिलेगी।”

जारी – पीआईबी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *